कक्षा 9 हिंदी व्याकरण एमपी बोर्ड वार्षिक पेपर 2022 MP Board Hindi 9th Class

परीक्षा की दृष्टि से हिंदी व्याकरण में संधि ,समास ,वाक्य आदि सभी परीक्षा की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है | परीक्षा में कोई ना कोई संधि का प्रकार , समास में समास का कोई ना कोई प्रकार और वाक्य में वाक्य का कोई ना कोई प्रकार कहीं ना कहीं पेपर में देखने को जरूर मिलता है | हिंदी व्याकरण में दोहा, सोरठा , कुंडलिया आदि सभी परीक्षा की दृष्टि से बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है कहीं ना कहीं पेपर में इनमे से कोई ना कोई जरुर देखने को मिलता है | दोस्तों काव्य में परीक्षा की दृष्टि खंडकाव्य और महाकाव्य में अंतर खंडकाव्य और महाकाव्य से बनने वाले जितने भी प्रश्न होंगे वह सभी परीक्षा की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है |

कक्षा 9 विज्ञान एमपी बोर्ड वार्षिक पेपर 2022 MP Board

परीक्षा में लेखक का जीवन परिचय कैसे लिखें ? जीवन परिचय लिखते समय क्या-क्या सावधानियां रखना चाहिए?

दोस्तों परीक्षा में लेखक का जीवन परिचय बहुत ज्यादा शब्दों में नहीं लिखना होता है | परीक्षा में लेखक के जीवन से संबंधित एक्सपेक्टेड शब्दों में लेखक का जीवन परिचय आपको परीक्षा में लिखना होता है | लेखक के जन्म का वर्ष, लेखक के द्वारा की गई रचनाओं के नाम , और लेखक का रचनाओं के प्रति क्या भाव था महत्वपूर्ण शब्दों के साथ कम शब्दों में जीवन परिचय लिखना होता है | परीक्षा में लेखक के जीवन परिचय से संबंधित बहुत सारे शब्दों के द्वारा इसका उत्तर नहीं लिखना होता है | प्रश्न में जितने शब्दों का निर्देश दिया जाए इतने शब्दों में ही इसका उत्तर दिया जाता है | दोस्तों अगर जरूरी हो तो लेखक की मृत्यु का समय भी लिख सकें तो और अच्छा रहेगा |

कवि परिचय कैसे लिखें ?

दोस्तों परीक्षा में कहीं ना कहीं किसी न किसी प्रश्न में कवि परिचय लिखने के लिए जरूर आता है | दोस्तों आपको ध्यान रखना है कि जब आपका भी परिचय लिख रहे हो तब किन किन बातों का ध्यान रखना है | दोस्तों का भी परिचय लिखते समय आपको कवि परिचय में एक्सपेक्टेड शब्दों के साथ कवि परिचय को लिखना होता है | कम शब्दों में कवि के जीवन का पूरा परिचय उत्तर में लिखना होता है | कवि परिचय लिखने में कवि का नाम , कवि के द्वारा की जाने वाली रचनाओं के नाम , उन रचनाओं के प्रति कवि का भाव क्या था, कवि के जीवन काल का अंतिम समय क्या था खेती की मृत्यु कब हुई थी | हिंदी साहित्य में कवि का क्या योगदान रहा | हिंदी के विकास में और भारतीय आजादी के समय कवियों ने अपनी कविताओं के माध्यम से जनता में उत्साहित कविताओं के माध्यम से जो प्रेरणा दी है उसके बारे में लिखना होता है लेकिन कम शब्दों के साथ |

दोस्तों अनुच्छेद लेखन, एप्लीकेशन ,निमंत्रण पत्र ,आमंत्रण पत्र आदि कोई भी पत्र जब आप परीक्षा में लिखें तब आपको याद रखना है कि वह पत्र आप औपचारिक लिख रहे हैं या फिर अनौपचारिक | पत्र लेखन में आपको प्रश्न के अनुसार ही शब्द सीमा का ध्यान रखना है याद रहे कि जितना प्रश्न के निर्देश में बोला गया है आपको उतने ही शब्दों में पत्र लिखना है |

पत्र लेखन में Format प्रारूप पर किस तरीके से ध्यान दें?

दोस्तों नोटिस पत्र 2 तरीके का होता है औपचारिक और अनौपचारिक | आपको नोटिस पत्र लिखते समय आपको ध्यान रखना है कि आप किस तरीके का नोटिस पत्र लिख रहे हैं औपचारिक या फिर अनौपचारिक | परीक्षा में लिखते समय यदि आपने नोटिस पत्र लिखने से पहले कॉपी में यह नहीं लिखा कि यह नोटिस पत्र औपचारिक है कि अनौपचारिक तब ऐसे में आपके अंक काटे जा सकते हैं | इसलिए जब भी आप नोटिस पत्र लिखें तब आपको याद रखना है कि आप औपचारिक नोटिस पत्र लिख रहे हैं या फिर अनौपचारिक नोटिस पत्र लिख रहे हैं |

Leave a Comment